केंद्र सरकार द्वारा पारित कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का हल्ला बोल राजभवन का घेराव कर जताया आक्रोश..

0
48

केंद्रीय कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के आंदोलन को आज सातमहा पूर्ण हो गए हैं लेकिन अब तक इन कानूनों पर सरकार और किसानों के बीच सहमति नहीं बन पाई है सरकार और किसानों के बीच सहमति नहीं बनने के चलते किसान आंदोलन समिति द्वारा 26 जून को देश भर की सभी राज बहनों को गिरने का फैसला किया था इसी के तहत आज राजस्थान की गवर्नर हाउस का घेराव किया गया इस प्रदर्शन में किसान प्रतिनिधि और अन्य संगठनों के कार्यकर्ता जयपुर में एकत्रित हुए।


संयुक्त किसान मोर्चा के आव्हान पर देशभर के राजभवन घेराव कार्यक्रम को खेती बचाओ लोकतंत्र बचाओ नाम दिया गया राजस्थान के गवर्नर हाउस को घेरने के लिए प्रदेशभर से आई किसान और अन्य संगठनों के कार्यकर्ता सुबह से ही शहीद स्मारक पर जितना शुरू हो गए थे जिसके बाद शहीद स्मारक से राजभवन तक पैदल मार्च निकाला गया इसके बाद राज्यपाल के प्रतिनिधि को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा।


सैकड़ों की संख्या में प्रदर्शनकारी किसान शहीद स्मारक से सिविल लाइन फाटक तक पहुंचे इस बीच भाजपा प्रदेश कार्यालय में भी इन प्रदर्शनकारियों ने घुसने का प्रयास किया लेकिन पुलिस की सतर्कता से इस प्रयास में किसान प्रतिनिधि और अन्य संगठनों के लोग सफल नहीं हो पाए सिविल लाइन फाटक पर पहुंचकर प्रदर्शनकारियों ने राजभवन तक पहुंचने के लिए काफी जोर आजमाइश की लेकिन पुलिस ने वेरी कटिंग करके इनको सिविल लाइन फाटक से आगे नहीं बढ़ने दिया इस बीच किसान प्रतिनिधियों अन्य संगठन के लोगों और पुलिस के बीच धक्का-मुक्की हुई हुई

जयपुर में आयोजित राजभवन घेराव कार्यक्रम में शाहजहांपुर खेड़ा बॉर्डर के पड़ाव में शामिल किसान प्रतिनिधि भी शामिल हुए इस प्रदर्शन में राजस्थान से कामरेड किसान नेता अमराराम गुर्जर नेता हिम्मत सिंह गुर्जर शहीद सैकड़ों की संख्या में किसान आंदोलन समर्थक शामिल हुए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here