PMFBY) प्रधानमंत्री फसल बिमा योजना :2020

0
88

राजस्थान में फसल बीमा हेतु “बीमा योजना” के व्यापक प्रचार-प्रसार जा रहा हैं। इसके लिए जालोर में मोबाईल वैन जिले की समस्त ग्राम पंचायतों एवं पटवार हल्को में जाकर प्रत्येक गांव में कृषकों को फसल बीमा के प्रति जागरूक कर रही है,प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अन्तर्गत अधिसूचना के अनुसार जालोर जिले के लिये गेहूँ, चना, सरसों, तारामीरा, जीरा एवं इसबगोल फसल को अधिसूचित किया गया हैं।रबी फसलों की बुवाई करने वालें कृषक अपनी फसलों का बीमा अवष्य करावें ताकि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में वर्णित जोखिम की स्थिति में बीमित कृषकों को बीमा क्लेम का उचित लाभ मिल सकें। उन्होने बताया कि जालोर जिले में फसल बीमा के क्रियान्वयन के लिए बजाज एलायन्ज जनरल इन्ष्योरेंस कम्पनी लिमिटेड को अधिकृत किया गया है। योजनान्तर्गत फसली ऋण लेने वाले ऋणी कृषक, गैर ऋणी कृषक एवं बटाईदार कृषकों द्वारा फसलों का बीमा करवाया जा सकेंगा। कृषक द्वारा मात्र एक बैंक/संस्था के माध्यम से ही फसल का बीमा कराया जायेंगा। कृषक द्वारा किसी भी स्थिति में दोहरा बीमा मान्य नहीं होगा।

कैसे भरे ऑनलाइन फॉर्म, फसल बिमा करवाने की प्रक्रिया,और फसल बिमा के फायेदे

प्रधानमंत्रीमोदी द्वारा देश के किसानो के लिए फसल बीमा योजना आरंभ की है।ताकि देश का अन्नदाता समर्ध हो और स्वभिनाम से जीवनयापन कर सके,

PM Fasal Bima Yojana प्रधानमंत्री फसल बिमा योजना

प्रधानमंत्री फसल बिमा योजनाठीक वैसी ही है जैसे की आपका जीवन बिमा,इस योजना के अंतर्गत देश के किसानों को किसी भी प्राकृतिक आपदा के कारण फसल में बर्बादी होने पर बीमा प्रदान किया जाएगा। इस योजना का कार्यान्वयन भारतीय कृषि बीमा कंपनी द्वारा किया जाता है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में केवल प्राकृतिक आपदा जैसे कि सूखा पड़ना, ओले पड़ना आदि ही शामिल है। यदि किसी अन्य वजह से फसल का नुकसान होता है तो फसल को बीमित नहीं माना जायेगा और ना ही बिमा क्लेम दिया जायेगा।

प्रधानमंत्री फसल बिमा योजनाके अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा 8800 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है। इस योजना के अंतर्गत किसानों को खरीफ फसल का 2% और रवि फसल का 1.5% भुगतान बीमा कंपनी को करना होता है। जिस पर किसानो को प्राक्रतिक आपदा से फसल का नुकसान होने पर बीमा क्लेम दिया जाएगा। यदि आप भी इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना रबी फसल बीमा प्रक्रिया शुरू

राजस्थान में Pradhanmantri Fasal Bima Yojana के अंतर्गत रबी फसल बीमा प्रक्रिया आरंभ कर दी गई है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी किसानों के बैंक अकाउंट से प्रीमियम की राशि काटी जाएगी।सभी बैंकों को सरकार द्वारा प्रीमियम की राशि काटने के निर्देश दे दिए गए हैं।31 दिसंबर 2020 से पहले पहले प्रीमियम की राशि किसानों के अकाउंट से काट ली जाएगी और फिर इसकी जानकारी 15 जनवरी 2021 तक पोर्टल पर दर्ज कर दी जाएगी। एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी ऑफ़ इंडिया लिमिटेड ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की प्रक्रिया के बारे में पूरी जानकारी देश के सभी बैंकों के नोडल कार्यालय को प्रदान कर दी है। इस योजना के अंतर्गत किसानों को स्केल ऑफ फाइनेंस का 1.5 फ़ीसदी प्रीमियम के रूप में देना होगा।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना नई अपडेट

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना किसानों की फसल को कुदरती आपदा से होने वाले नुकसान की भरपाई करने के लिए प्रारंभ की गई है।जलवायु परिवर्तन के चलते देश में कहीं भारी बारिश हो रही है तो कहीं सूखा पड़ा है। जिससे किसानो की फसल को भारी नुकसान पहुंचता है। यदि फसल को कोई नुकसान होता है तो 72 घंटे में शिकायत स्थानीय कृषि कार्यालय किसान हेल्पलाइन नंबर पर दर्ज करानी होगी। इसके अलावा यह शिकायत क्रॉप इंश्योरेंस ऐप पर भी दर्ज कराई जा सकती है। यदि आपको इस बारे में अन्य जानकारी प्राप्त करनी है तो आप हेल्पलाइन नंबर वन 18001801551 पर संपर्क कर सकते हैं।

Crops & Premium In PMFBY Scheme 2020

क्र0स0फसलकिसान द्वारा देय बीमा राशि का प्रतिशत
1खरीफ2.0%
2रबी1.5%
3वार्षिक वाणिज्यिक एवं बागवानी फसले5%

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत प्रीमियम राशि

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को प्रीमियम की राशि का भुगतान करना होता है। यह प्रीमियम की राशि अन्य फसल बीमा योजनाओं की अपेक्षा में प्रधानमंत्री बीमा योजना में बहुत कम रखी गई है। प्रीमियम की राशि कुछ इस प्रकार है।

  • खरीफ फसल के लिए: बीमित राशि का 2%
  • रबी फसल के लिए: बीमित राशि का 1.5%
  • सालाना वाणिज्यिक और बागवानी की फसल के लिए : बीमित राशि का 5%

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना गतिविधि कैलेंडर

गतिविधि कैलेंडरखरीफरबी
अनिवार्य आधार पर लोनी किसानों के लिए स्वीकृत ऋण।अप्रैल से जुलाई तकअक्टूबर से दिसम्बर तक
किसानों के प्रस्तावों की प्राप्ति के लिए कट ऑफ़ तारीख (ऋणदाता और गैर-ऋणदाता)।31 जुलाई31 दिसम्बर
उपज डेेटा प्राप्त करने के लिये कट आफ तारीखअतिंम फसल के एक महीने के भीतरअतिंम फसल के एक महीने के भीतर

Revisedप्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

फसल बिमा के प्रकारवर्ष 2016 के लियेवर्ष 2020 के लिये
किसान द्वारा देय प्रीमियम धनराशिरू 900रू 600
शतप्रतिशत नुकसान की दशा मे किसान को प्राप्त धन राशिरू 15000रू 30000

प्रधानमंत्री फसल बीमायोजना का उद्देश्य

भारत में अधिकतर खेती करने वाले किसानो को फसलों में होने वाले नुकसान पर सरकार मदद करेगी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2020किसानो को खेती में रूचि बनाये रखना तथा स्थायी आमदनी उपलब्ध कराना इस योजना में किसानो की फसलों में होने वाले नुकसान व चिंताओं से मुक्त कराना है और लगातार खेती करने के लिए किसानो को बढ़ाबा देना है और भारत को विकसित तथा प्रगतिशील बनाना है,

पीएम फसल बीमा योजना नई अपडेट

केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के तहत नयी घोषणा की है इस घोषणा के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा खरीफ फसलों के बीमा की अंतिम तिथि 31 जुलाई 2020 कर दी है, देश के जो इच्छुक लाभार्थी फसल बीमा का लाभ उठाना चाहते है,तो वह 31 दिसम्बर 2020 तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते है।जो ऋणी किसान बीमा सुविधा नहीं चाहते है वह अंतिम तिथि के 7 दिन पूर्व लिखित रूप से अपनी बैंक शाखा को अवश्य सूचित करें. गैर ऋणी किसान सी एस सी, बैंक, एजेंट अथवा बीमा पोर्टल पर फसल बीमा स्वयं कर सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत किसानो को बुआई के 10 दिन के अंदर किसान को PMFBY का एप्लीकेशन भरनी होगी, बीमा की रकम का लाभ तभी मिलेगा जब आपकी फसल

किसी प्राकृतिक आपदा की वजह से ही खराब हो।

फसल बीमा योजना से मिला क्लेम

पिछले तीन सालों में इस योजना में 13,000 करोड़ रुपये का प्रीमियम जमा हुआ है, लेकिन जब प्राकृतिक आपदा आई, तो किसानों को प्रीमियम से साढ़े 4 गुनी राशि करीब 64,000 करोड़ रुपये मुआवजा के रूप में प्राप्त हुआ। तोमर ने बताया कि प्रीमियम की हिस्सेदारी में कोई बदलाव नहीं हुआ है। यह खरीफ फसल के लिए 2 फीसद, रबी फसल के लिए 1.5 फीसद और व्यावसायिक व बागवानी फसलों के लिए अधिकतम 5 फीसद है।लॉकडाउन के दौरान इस योजना के तहत 8,090 करोड़ रुपये से अधिक के दावों का भुगतान किया गया है।

PMFBY के ज़रूरी दस्तावेज़

  1. आधार कार्ड
  2. राशन कार्ड
  3. बैंक खता
  4. किसान का आई डी कार्ड
  5. किसान का एड्रेस प्रूफ (ड्राइविंग लाइसेंस ,वोटर कार्ड ,पासपोर्ट )
  6. खेत का नंबर ,खसरा नंबर
  7. आवेदक किसान की फोटो

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना मैं आवेदन करने के लिए कुछ जरूरी तिथियां

यदि आप प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो खरीफ फसल के लिए अंतिम तिथि 31 जुलाई है तथा रबी फसल के लिए अंतिम तिथि 31 दिसंबर है। इस योजना की अंतिम तिथि सीएससी केंद्र, पीएमएफबीवाई पोर्टल, इंश्योरेंस कंपनी या फिर कृषि अधिकारी से भी पूछी जा सकती हैं।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का सरकार द्वारा एंड्रॉयड ऐप लांच कर दिया गया है। जो कि आधिकारिक वेबसाइटhttps://pmfby.gov.in/ या फिर गूगल प्ले स्टोर के माध्यम से डाउनलोड किया जा सकता है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एप के माध्यम से किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं, अपना एप्लीकेशन स्टेटस चेक कर सकते हैं, अपने इंश्योरेंस प्रीमियम की राशि कैलकुलेट कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें आधिकारिक वेबसाइट पर जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एप का मुख्य उद्देश्य किसानों को प्रीमियम तथा बीमा राशि बताना है। यह ऐप किसान का डाटा ऑटो बैकअप कर लेता है। आप नीचे दी गई प्रक्रिया को फॉलो कर कर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं।

फसल बीमा योजना लाभार्थी सूची देखने की प्रक्रिया

आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से

Note- जो किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत आवेदन करना चाहते है वह सरकारी दफ्तरो जैसे बैंक बैंक/PACS/ जनसेवा केंद्र बीमा एजेन्ट या सीधे बीमा कम्पनी से भी आवेदन कर सकता है और इस वर्ष रबी फसल की बीमा की अंतिम तिथि दिनांक 31 दिसम्बर 20120 है। इस योजना से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए आप आधिकारिक वेबसाइट पर भी जा सकते हैं

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से क्लेम लेने की प्रक्रिया

यदि आप की फसल को नुकसान पहुंचा है तो आपको नीचे दी गई प्रक्रिया को फॉलो कर कर बीमा राशि का क्लेम कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत आने वाली बीमा कंपनियों के टोल फ्री नंबर

इन्शुरेंस कंपनी का नामटोल फ्री नंबर
एग्रिकल्चर इन्शुरेंस कंपनी1800 116 515
बजाज आलियंज इन्शुरेंस कंपनी1800 209 5959
भारती एक्सा जनरल इन्शुरेंस कंपनी1800 103 7712
चोलामंडलम MS जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 200 5544
फ्युचर जनराली इंडिया इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 266 4141
एचडीएफ़सी एर्गों जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 266 0700
आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 266 9725
इफको टोकियो जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 103 5490
नेशनल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 200 7710
न्यू इंडिया एशुरेंस कंपनी1800 209 1415
ओरिएंटल इन्शुरेंस1800 118 485
रिलायंस जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 102 4088 / 1800 300 24088
रॉयल सुंदरम जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 568 9999
एसबीआई जनरल इन्शुरेंस1800 123 2310
श्रीराम जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 3000 0000 / 1800 103 3009
टाटा एआईजी जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 209 3536
यूनाइटेड इंडिया इन्शुरेंस कंपनी1800 4253 3333
यूनिवर्सल जनरल इन्शुरेंस कंपनी1800 200 5142  

प्रधानमंत्री हेल्पलाइन नंबर

इस योजना के अंतर्गत देश के किसानो के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है अगर किसी किसान को इस योजना के जुडी कोई परेशानी है है तो वह इस हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके अपनी परेशानी का निवारण प्राप्त कर सकते है और इस योजना से जुडी अधिक जानकारी प्राप्त कर सकता है ।
योजना से जुडी अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए फ़ोन नंबर – 01123382012
हेल्पलाइन नंबर – 01123381092

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here