हेलिकोप्टर के किराये के पैसे का मलाल रहेगा..पूनिया

0
74

क्या राजस्थान बीजेपी का खजाना खली है

राजस्थान में by_election में बीजेपी को हेलीकॉप्टर की कमी काफी हद तक खलती दिखाई दी है। दरअसल बीजेपी नेइस चुनाव में अपनी पूरी ताकत झोंक राखी है और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ इन चुनावो में मतदाताओ को रिझाने के लिए स्टार प्रचारकों को भी उतारा, लेकिन लगता है संसाधनों की कमी के चलते चुनाव में सभी स्टार प्रचारक प्रचार के लिए नहीं आ पाए। इसका बड़ा कारण हेलीकॉप्टर और चार्टर प्लेन की चुनाव में एंट्री नहीं होना हो सकती है।राजस्थान में बीजेपी संगठन का जिम्मा संभल रहे पार्टी के प्रदेश प्रभारी और राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह ने भी विधानसभा चुनावो में एक ही दिन हेलिकॉप्टर से प्रचार किया प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया को भी हेलीकॉप्टर के इस्तेमाल का मौका एक ही दिन ही मिल पाया ।पूनिया हेलीकॉप्टर के जरिए सुजानगढ़ की सभा के बाद पूनिया तत्काल राजसमंद विधानसभा क्षेत्र के कांकरोली पहुंच गए थे। इस दौरान हेलीकॉप्टर में उनके साथ केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर और प्रतिपक्ष के उपनेता राजेंद्र राठौड़ भी मौजूद रहे।

बीजेपी स्टार प्रचारकों के प्रचार में बाधा बना हेलीकाप्टर

प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया के पास जिम्मेदारी तो 3 विधानसभा उप चुनाव की है लेकिन प्रचार के आखरी दो दिन पूनिया ने भीलवाड़ा की सहाडा विधान सभा सीट दिए क्षेत्र को दिए। उपचुनाव वाले तीन विधानसभा क्षेत्रों में से आखिरी दो दिन केवल सहाड़ा को देने के सवाल पर पूनिया ने कहा कि उनके पास हेलीकॉप्टर नहीं था, अन्यथा वे तीनों ही विधानसभा क्षेत्रों में जाते। सहाड़ा रवाना होने से दो दिन पहले पूनिया के पास जब हेलीकॉप्टर था तो वाकई में उन्होंने एक ही दिन में दो विधानसभा क्षेत्रों में सभा की। 12 अप्रैल को पूनिया सड़क मार्ग से सुजानगढ़ गए और दिल्ली से हेलीकॉप्टर से सुजानगढ़ पहुंचे केंद्रीय राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर के साथ सभा करके सुजानगढ़ से सीधे राजसमंद भी गए थे।पूनिया का कहना था कि अगर उनके पास भी हेलीकॉप्टर होता तो आखिरी दौर में तीनों विधानसभा क्षेत्रों को समय देते। एक दिन के लिए हेलीकॉप्टर मिलने के सवाल पर पूनिया बोले कि उनके पास हेलिकॉप्टर के लिए इतना ही किराया था, की पैसे खत्म हो जाने के कारण वह बाद में हेलीकॉप्टर की सेवाएं नहीं ले सके।

क्या बीजेपी से सहाड़ा में बीजेपी प्रत्याशी रतन लाल जाट कोरोना पॉजिटिव होने से वित्तीय प्रबंधन गड़बड़ा गया

चुनाव प्रचार की समय खत्म होने से तकरीबन 48 घंटे पहले ही सहाड़ा विधानसभा क्षेत्र में बीजेपी के प्रत्याशी डॉ रतनलाल जाट कोरोना की चपेट में आ गए और रिपोर्ट कोविड पॉजिटिव आ गई। इससे बीजेपी का वित्तीय प्रबंधन भी गड़बड़ा गया। दरअसल रतन लाल जाट के कोविड पॉजिटिव होने के बाद पार्टी में ही कई लोग यह भी कहने लगे है कि चुनाव में तो भीड़ के बीच जाना होता है, ऐसे में कोरोना का खतरा तो लगातार बरकरार था तो फिर रतन लाल जाट को कोविड टेस्ट कराने की जरूरत ही क्यों आ पड़ी थी? इधर पार्टी के जानकार सूत्रों का कहना है कि रतन लाल जाट के पास ही वित्तीय प्रबंधन का ज्यादा हिसाब-किताब था, ऐसे में उनके अस्पताल में भर्ती होने से कुछ हद तक पार्टी का वित्तीय प्रबंधन गड़बड़ा गया है। हालांकि वरिष्ठ नेताओं ने आखिरी दौर में कमान संभालने की कोशिश करते हुए सहारा प्रबंधन अपने हाथ में ले लिया है।

सहाड़ा में बीजेपी ने झोंकी ताकत, राजसमन्द में प्रदेश अध्यक्ष ने किया रोड शो

भलेही बीजेपी वित्तीय संकट के चलते हेलीकॉप्टर की कमी से बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया तीनों विधानसभा क्षेत्रों में आखिरी दौर में अपना समय ना दे पाए हों, लेकिन उन्होंने सहाड़ा विधानसभा क्षेत्र में जाट-गुर्जर-ब्राह्मण मतदाताओ को रिझाने में कोई कसार नहीं छोड़ी इसके बाद राजसमन्द सीट से बीजेपी प्रत्याशी दीप्ती माहेश्वरी के समर्थन में रोड शो में भी शामिल हुए। इस दौरान सांसद दीया कुमारी के साथ ही प्रभारी वासुदेव देवनानी, मदन दिलावर समेत वरिष्ठ नेता मौजूद रहे। …

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here